अपना सिबिल स्कोर कैसे करें ठीक, ये हैं उपाय

आजकल का दौर पूरी तरह डिजिटल हो चुका है. हर कोई अपना काम घर बैठे मोबाइल पर करना चाहता है और करता है. डिजिटल जमाने में लोन लेना भी बहुत आसान हो गया है. अपने मोबाइल से ही आप घर बैठे लोन ले सकते हैं. बैंक भी आपको लोन देने की सुविधा देती है लेकिन कई बार हमें हमारी आवश्यकताओं के अनुसार लोन नहीं मिल पाता है. कंपनियां अक्सर अपनी शर्तें थोप कर हमको लोन देती है. क्या आप इन सभी शर्तों से बचना चाहते हैं अगर हां तो इसके लिए आपको कुछ उपाय करने होंगे. आज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिससे आप अपने क्रेडिट सिबिल स्कोर को अच्छा कर सकते हैं.

अपने मन मुताबिक लोन पाने के लिए हमारे पास अच्छा सिविल स्कोर होना चाहिए. इसके साथ आपको ब्याज दर भी ज्यादा नहीं देना पड़ता. तो हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिससे आप अपने क्रेडिट स्कोर को अच्छा कर सकते हैं.

क्या होता है क्रेडिट सिबिल स्कोर?

क्रेडिट स्कोर अच्छा करने के लिए सबसे पहले हमारा यह जानना जरूरी है कि क्रेडिट स्कोर होता क्या है? क्रेडिट स्कोर 13 अंकों की एक संख्या होती है जो बैंक अपने ग्राहकों को उनके द्वारा की जाने वाली गतिविधियों के अनुसार देती है. यह स्कोर 300 से 900 के बीच होता है और जिस ग्राहक का स्कोर जितना ज्यादा अच्छा होता है बैंक उसको उतना ही भरोसे लायक मांगती है. आपका क्रेडिट सिविल स्कोर आपके द्वारा लोन चुकाने में लिया गया समय के अनुसार दिया जाता है.

आप अपना लोन देरी से चुकाते हैं या समय पर आपका क्रेडिट सिबिल स्कोर उस पर निर्भर करता है. अगर आपका क्रेडिट सिबिल स्कोर अच्छा है तो बैंक आपको तुरंत आपका मनपसंद लोन दे देंगे. लेकिन अगर आपका सिविल स्कोर खराब है तो कई बार ग्राहकों को अधिक ब्याज दर पर लोन लेना पड़ता है. इसलिए अपनी सिविल स्कोर को अच्छा करने के लिए आपको ये प्रयास करने चाहिए.

समय पर जमा करें किस्त

जब भी आप कोई लोन ले तो उस पर जो भी किस्त आपके लिए निर्धारित की गई है उसे समय पर भुगतान करें. अगर आप अपने लोन की किस्त देरी से जमा करते हैं तो बैंक आपके सिविल स्कोर को खराब कर देती हैं. आपका सिविल स्कोर सभी बैंकों को दिखाई देता है. लोने लेते समय खराब सिविल स्कोर होने के कारण आपको कई कठिनाइयां आ सकती हैं.

रोजाना की जिंदगी में हमें पैसों की जरूरत पड़ती ही है और यह बिल्कुल आम बात है. कई बार हम को पैसों की जरूरत अचानक पड़ती है जिसके कारण हमें लोन लेना पड़ता है लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो जरूरत से ज्यादा खर्च करते हैं और उसके लिए उन्हें लोन लेना पड़ता है. उस लोन को चुकाने में उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. तो एक बात यह भी आवश्यक है कि जब आपके लिए बहुत ज्यादा जरूरी हो तभी आप लोन ले. अगर आप अपना काम अपनी बचत का इस्तेमाल पूरा करके कर सकते हैं तो यह भी आपके लिए एक बहुत अच्छा उपाय है. क्योंकि बार-बार और जगह-जगह से लोन लेना भी आपके सिबिल स्कोर को प्रभावित करता है.

सिबिल स्कोर

पुराने सभी लोन की जानकारी दूसरी बैंकों के पास उपलब्ध होती है

अगर आपने एक बैंक से लोन ले रखा है और आप किसी अन्य बैंक में दूसरा लोन लेने जा रहे हैं तो हम आपको बता दें कि आपके पुराने सभी लोन की जानकारी दूसरी बैंकों के पास उपलब्ध होती है. आपकी पूरी जानकारी जैसे ही इंटरनेट पर लिखी जाती है आपका पूरा खाता खुल कर सामने आ जाता है जिससे आपके सिविल स्कोर पर नकारात्मक असर होता है.

अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड है तो आप अपने कार्ड को किस तरह इस्तेमाल कर रहे हैं इसका असर भी आपके क्रेडिट सिविल स्कोर पर पड़ता है. आपके क्रेडिट कार्ड की जो सीमा हैं उसका आपको उल्लंघन नहीं करना चाहिए. यदि आप ऐसा करते हैं तो बैंक के द्वारा आपको एक नोटिस दिया जाता है. और अगर आप ऐसा बार-बार करते हैं तो बैंक के कर्मचारी आपके क्रेडिट स्कोर को नकारात्मक स्कोर दे देते हैं. इसलिए आप अपने सिविल स्कोर को बचाने के लिए इससे भी बचकर रहें.

शार्ट करके ना दें अपना पेमेंट

लोन की पेमेंट को आप अपने क़िस्त के अनुसार दे सकते हैं. लेकिन बैंकों और कुछ नई क्रेडिट कंपनियों के द्वारा एक नई सुविधा दी जा रही है जिसमें इस प्रकार का लोन दिया जा सकता है कि आप अपनी लोन की राशि को छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट कर दे सकते हैं. इस सुविधा से आपको अपना लोन चुकाने में काफी आसानी होगी लेकिन इस तरह आपके ब्याज दर में थोड़ी सी बढ़ोतरी हो जाएगी. बैंक द्वारा इसे देरी से लोन चुकाना माना जाएगा. और देर से अपना लोन चुकाने का कारण देकर भी बैंक और कंपनियां अपने कस्टमर्स के स्कोर को खराब कर देते हैं. और इस समस्या से घाटा सिर्फ आपको ही होता है और आगे लोन लेने में भी आपको समस्या आती है.

बैंक आपको लोन आपका सिविल स्कोर चेक करके ही देता है. अगर आपका सिविल स्कोर अच्छा है तो आपको लोन लेने में काफी आसानी होगी. ऊपर बताए गए सभी नियमों के द्वारा आप अपने सिविल स्कोर को संभाल कर रख सकते हैं जिससे कि आपको लोन आसानी से मिल जाए.

Leave a Comment